Natural Stone Cladding

Exterior Walls Natural Stone Cladding in India

आंतरिक और बाहरी दीवारों पर प्रयुक्त प्राकृतिक पत्थर क्लैडिंग Natural Stone Cladding भारत में प्रसिद्ध है। इसका उपयोग घर के अंदर और बाहर दोनों जगह किया जा सकता है। लेकिन आज इस आर्टिकल में हम आपको स्टोन क्लैडिंग बाहरी दीवारों के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं जिसमें हम आपको इसके महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में बताएंगे जैसे कि भारत में स्टोन क्लैडिंग की कीमत क्या है और इसे बाहरी दीवारों पर बनाने में कितना खर्च आ सकता है। इस पूरे आर्टिकल में आपको Stone cladding for exterior walls india के बारे पता चल जाएगा इसलिए इसे अंत तक पढ़ें।

दीवारों के एक्सटर्नल और इंटरनल के लिए स्टोन क्लैडिंग का उपयोग इसलिए किया जाता है क्योंकि इसमें ज्यादा मेंटेनेंस की जरूरत नहीं होती है केवल पानी के सहायता से इसे साफ कर लंबे समय तक क्लीन रखा जा सकता है।

मार्केट में कई अलग-अलग प्रकार के आपको stone cladding के लिए मटेरियल देखने को मिलते हैं जिसमें आप अपने पसंद के अनुसार कलर पदार्थ और डिजाइन का चयन कर सकते हैं। अगर बात करें भारत में सबसे ज्यादा चलने वाले स्टोन क्लैडिंग की तो ग्रे और मल्टी कलर सबसे ज्यादा चलते हैं क्योंकि इन्हें घर के अंदर और बाहर दोनों तरफ नेचुरल लुक देने के लिए उपयोग किया जाता है।

Natural stone cladding for exterior walls india

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

दीवारों के बाहरी सतह पर लगाने के लिए नेचुरल स्टोन क्लैडिंग की जाती है या स्वाभाविक पत्थरों से बने एक परत होती है जिसे प्राकृतिक काले पत्थर की स्लेट जैसे पदार्थ का उपयोग कर बनाई जाती है भारत में कई वर्षों से उपयोग में लाई जा रही है। दीवारों की सुंदरता और प्राकृतिक आवरण के लिए Natural stone cladding का बहुत आयात में उपयोग किया जाता है।

वैसे तो इसमें कई प्रकार के मैटेरियल्स का इस्तेमाल कर नेचुरल स्टोन क्लैडिंग की जा सकती है लेकिन यदि आप टिकाऊ और विभिन्न डिजाइन और कलर के मटेरियल को खोज रहे हैं तो आपको ग्रेनाइट और स्लेट जैसे पत्थरों से बने मटेरियल का उपयोग करना चाहिए।

Advantage of Natural Stone Cladding

1. Static Appeal

नेचुरल स्टोन क्लैडिंग की वजह से आपकी दीवार बहुत ही शानदार और खूबसूरत दिखने लगती है इसमें आपको बहुत सारे टाइप के कलर टेक्सचर पेटर्न्स टाइप के मैटेरियल अवेलेबल होते हैं जिनकी वजह से आपकी दीवार एकदम यूनिक दिखाई देने लगते हैं।

2. Durability

अच्छे लुक के साथ आपको स्टोन क्लैडिंग में एक अच्छी ड्युरेबिलिटी भी मिलती है यह जो नेचुरल स्टोन क्लेरिडिंग होती है यह मौसम की मार को अच्छे से सह सकती है नेचुरल स्टोन क्लैडिंग का इस्तेमाल करने की वजह से आपकी दीवार पर एक नेचुरल प्रोटेक्टिंग लेयर बन जाती है जिसकी वजह से आपकी दीवार की लाइफ भी बढ़ जाती है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

3. Low Maintenance

एक बार अपने स्टोन क्लैडिंग को लगवा दिया फिर आपको बार-बार मेंटेनेंस की चिंता करने की आवश्यकता नहीं होती है पानी की मदद से आप इसे आराम से साफ कर सकते हैं।

Natural Stone Wall Cladding Price in India

इस प्रकार के स्टोन क्लैडिंग में प्राकृतिक या स्वाभाविक रूप से पाए जाने वाले पत्थर की डिजाईन बनी होती है। आमतौर पर इसकी कीमत भारत में इसके डिजाईन और मटेरियल पर निर्भर करती है। अगर बात की जाए सामान्य स्टेट स्टोन से बने मॉडर्न 24×6 inches स्टोन वॉल की तो इसकी कीमत ₹90 स्क्वायर फीट होती है। बॉक्स स्टोन वॉल जिसे बाहर उपयोग किया जाता है Elevation Mosaic Stone इसकी कीमत लगभग ₹100 पर स्क्वायर फीट होती है।

Popular Stone Cladding in India

नेचुरल स्टोन वॉल क्लीनिंग के लिए आप अलग-अलग पत्थर एवं शैली का उपयोग कर सकते हैं जैसे हम नीचे वन बाय वन बताने वाले हैं। इसके अलावा यदि किसी नेचुरल स्टोन क्लैडिंग में रुचि रखते हैं तो नीचे कमेंट में हमें अवश्य बताएं।

1. Basalt

basalt cladding

कई वर्षों से उपयोग में की जाने वाली एक्सटर्नल वॉल स्टोन क्लैडिंग जिसे Basalt Cladding कहां जाता है जो Black Stone Wall Cladding के लिए उपयोग की जाती है अक्सर यह बड़ी-बड़ी बाहर की दीवारों और बाउंड्री वॉल आवरण के लिए उपयोग की जाती है।

2. Granite

Granite

एक्सटीरियर क्लीनिंग के लिए ग्रेनाइट भारत में एक पॉप्युलर चॉइस मानी जाती है क्योंकि इसके ऊपर स्क्रैच स्टेन और हित का कोई भी असर नहीं होता, सबसे अधिक ट्रैफिक वाले एरिया में ग्रेनाइट सूटेबल होता है।

3. Marble

Marble

मार्बल एक ऐसा पदार्थ है जिससे स्टोन क्लैडिंग में एक एलिगेंट अपीरियंस आता है मार्बल की वजह से आपकी दीवार के ऊपर एक लग्जरी टच मिलता है।

इस प्रकार अलग-अलग टाइप की स्टोन प्लाटिंग के अलग अलग फायदे होते हैं जो भारत में कई वर्षों से किए जा रहे हैं। जैसे अगर आप लाइमस्टोन स्टोन क्लैडिंग का उपयोग करते हैं तो आपको एक्सटीरियर वॉल पर सॉफ्टवेयर लोक दिखाई देता है इसके अलावा यह अलग-अलग कलर में भी उपलब्ध है।

Natural Stone Cladding FAQ’s

नेचुरल स्टोन प्लाटिंग में कितना खर्च आता है?

यदि आप एक्सटीरियर वाल्स के लिए नेचुरल स्टोन क्लीनिंग करवाना चाहते हैं तो यह अधिक खर्चीला हो सकता है हालांकि यह डिजाइन और मटेरियल के हिसाब से अलग हो सकता है । आमतौर पर यह ₹100 स्क्वायर फीट से हजार रुपए स्क्वायर फीट तक हो सकते हैं इसलिए अधिकांश तौर पर स्टोन क्लैडिंग को इंटीरियर के दीवारों को सजाने के लिए किया जाता है।

नेचुरल स्टोन क्लैडिंग कितने वर्ष तक चलता है?

स्टोन प्लाटिंग में किए गए मटेरियल सुंदर और मजबूती के लिए जाने जाते हैं इनकी सेल्फ लाइफ 15 वर्ष से भी अधिक हो सकती है।

इसे कहां से खरीदे और लगाने वाले कारीगर कहां से मिलेंगे?

यदि आप नेचुरल स्टोन क्लैडिंग ऑनलाइन खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो आप इंडियामार्ट और जस्ट स्टाइल जैसी वेबसाइट से स्टोन क्लैडिंग करने वाली कंपनी के नंबर निकाल सकते हैं इसके अलावा आप ऑफलाइन कारीगर खोजने के लिए टाइल्स या पत्थर से डिजाइन बनाने वाले लोगों से संपर्क कर सकते हैं।

नेचुरल स्टोन क्लैडिंग एक्सटीरियर वॉल पर कहां कर सकते हैं?

यदि आप घर के बाहर स्टोन फ्लोरिंग करने की इच्छा रखते हैं तो आप इसे एलिवेशन में लगा सकते हैं जिस घर के बाहर का लुक बहुत खूबसूरत दिखाई देता है।

हम उम्मीद करते हैं आपने इस आर्टिकल में stone cladding for exterior walls india के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में जान लिया होगा इसके अलावा स्टोन ट्रेडिंग से संबंधित किसी अन्य जानकारी के लिए आप हमें कमेंट कर सकते हैं।

यह भी पढ़े: Compound Wall Design Pattern | Boundary Wall Design

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top